‘शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं, यह कैसा हादसा था’: दिल्ली में महिला की मां की मौत

जब अंजलि सिंह काम से घर लौटती थी, तो उसकी माँ ने लगभग 9 बजे उससे पूछताछ की। उसने अंजलि को कहते सुना, “3-4 AM।” अंजलि की मां ने एएनआई के हवाले से कहा कि उनकी बेटी की दुर्घटना का शब्द वास्तव में सुबह लौटा था। उसे कुछ समय के लिए पुलिस स्टेशन में प्रतीक्षा करने का निर्देश दिया गया था, इससे पहले कि उसके भाई ने उसे यह खबर दी कि उसने अपनी बेटी से आखिरी बार बात की थी, जो कि कोई भी माँ कभी नहीं सुनना चाहती।

हादसे में मरी दिल्ली की महिला की मां: “शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं, यह कैसा हादसा था”
हादसे में मरी दिल्ली की महिला की मां: “शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं, यह कैसा हादसा था”
जागरण अंग्रेजी के अनुसार
20 वर्षीय दिल्ली निवासी अंजलि सिंह एक भयानक यातायात टक्कर में मारे गए। उत्तर पश्चिमी दिल्ली के खंजावाला इलाके में उसके स्कूटर को एक कार ने टक्कर मार दी, जिसमें पांच नशे में धुत लोग थे। दुर्घटना की परिस्थितियों के कारण महिला के कपड़े कार के पहियों में से एक में मुड़ गए थे। कई मीडिया सूत्रों के मुताबिक, पांचों लोगों ने कार को रोकने के बजाय शव को 4 से 7 KM तक घसीटा। “इतनी सारी चीज़ें पहन रखी थी, पर बदन पर एक भी कपड़ा नहीं था। ये कैसा हादसा था?” मृतक की रोती बिलखती मां।

नोएडा: अपना पैसा काम पर लगाकर केवल $250 के साथ संभावित दूसरी आय कमाना शुरू करें।
ऑक्टोपस विज्ञापन दस्ते
नोएडा: अपना पैसा काम पर लगाकर केवल $250 के साथ संभावित दूसरी आय कमाना शुरू करें।
दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस को हाजिरी समन जारी करते हुए कहा, “यह वास्तव में खतरनाक और भयानक घटना है।” उसने कई पूछताछ भी की जो अधिकारियों को हैरान कर देगी।

“पांच गंभीर रूप से नशे में धुत लोग कार चला रहे थे। मैंने दिल्ली पुलिस को यह पता लगाने के लिए बुलाया है कि लड़की को न्याय कैसे मिलेगा। दूसरा, मैं जानना चाहती हूं कि लड़की को मीलों तक ले जाने के बावजूद कोई भी चौकी कुछ भी जब्त नहीं कर पाई, उसने सवाल किया।” .

Leave a Comment